Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

Responsive Advertisement

डिजिटल मार्केटिंग क्या है? What is Digital Marketing?

डिजिटल मार्केटिंग क्या है? What is Digital Marketing?

Digital marketing, डिजिटल का मतलब होता है ऑनलाइन और मार्केटिंग का मतलव बाजार यानि ऑनलाइन बाजार। जैसे की आज के टाइम में डिजिटल मार्केटिंग का टेंड्स बहोत ही तेजी से बढ़ रही है। इसी लिए जो लोग बिज़नेस करना चाहते है वे डिजिटल मार्केटिंग का यूज़ करना ज्यादा पसंद करते है ताकि लोग अपने सर्विसेस और प्रोडक्ट की प्रमोशन कर सके because ये सबसे इजी तरीका है अपने बिज़नेस की इनक्रीस करने का ताकि अपने प्रोडक्ट्स और सेविसेस ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुँचा  सके।

वो टाइम गया जब लोग घर घर जाकर अपना प्रोडक्ट के बारे में जानकारी देते थे। क्युकी ऐसा करने से टाइम की बर्बादी बहोत ज्यादा होती थी और अपने प्रोडक्ट्स को बेचना और लोगो तक पहुंचना बहुत ही डिफिकल्ट होता था। जबसे डिजिटल मार्केटिन मार्किट में आया तबसे लोगो का काम करने का तरीका ही बदल गया। डिजिटल मार्केटिंग के जरिये अपने प्रोडक्ट्स और अपने सर्विसेज को लोगो तक पोहचना बहुत इजी हो गए। 

डिजिटल मार्केटिंग करने का बहुत सरे तरीके है। आपने देखा भी होगा मिलियन लोग इंटरनेट का यूज़ कर रहे है। अधिकतर लोग सोशल मीडिया से भी जुड़े हुए है ताकि जो लोग अपने प्रोडक्ट्स या सर्विसेज की प्रमोशन करना चाहते है वो लोग इंटरनेट या सोशल मीडिया के जरिये यूज़ करते है. डिजिटल मार्केटिंग के जरिये अपने प्रोडक्ट्स या सर्विसेज को कौन कौन से लोकेशन में दिखाने है या कितने age ग्रुप वाले लोगो को और चाहे वो मेल हो या फीमेल ये सब घर बैठे बैठे एक कैंपेन की हेल्प से कर सकते है।

अगर हम कुछ year पहले की बात करे या कोई भी सर्विसेज की प्रमोशन करने के लिए जो advertisement करते थे जैसे की न्यूज़ पेपर, बैनर टेम्पलेट्स, रेडियो, टीवी इत्यादि। इन्ही तरीको से विज्ञापन किया जाता था और बहोत ही कॉस्टली भी होता था।


What-is-digital-marketing


डिजिटल मार्केटिंग इतनी महत्वपूर्ण क्यों हैWhy is digital marketing so important?

Digital marketing इस्सलिये इतना इम्पोर्टेन है की आज की डेट में अपने देखा होगा की ये डिजिटल मीडिया इतना पॉपुलर बन गया है की आज सभी के पास इंफोर्मशन देखने के बहुत सारे सोर्स है। इनफार्मेशन देखने के लिए कभी भी किसी भी जगह कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकते है। अब वो दिन गया जब टेक्स्ट मैसेज पर डिपेंड रहते थे और वही जानकारी प्राप्त कर पाते थे जिनके बारे में मार्केटर्स जानकारी देते थे।

जबसे डिजिटल मीडिया मार्किट में आया तबसे लोगो का काम करने का तरीका बदल गया जैसे की शोप्पिंग करना, एंटरटेनमेंट, न्यूज़ देखना और सोशल इंटरैक्शन हो रहे है जिसे की अच्छे और बुरे की पहचान कर सके और दूसरे से भी इंफोर्मशन कलेक्ट कर सके। Consumer आजकल ऐसे ब्रांड पर ट्रस्ट करना चाहते है जिसपे की वो ट्रस्ट कर सके। 

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार(Types of Digital Marketing)

  • SEO(Search engine optimization)
  • SEM(Search engine marketing)
  • SMO(Social media optimization)
  • PPC(Pay per click)
  • SMM(Social media marketing)
  • Content marketing 
  • Email marketing
  • Influencer and Affiliate Marketing


  • SEO(Search engine optimization)

SEO SEARCH ENGINE OPTIMIZATION  इसका मतलब क्या होता है BASICALLY जो भी आप गूगल पे सर्च करते हो। आपने बहोत बार खुद करा हो की आप कभी भी गूगल के सेकंड या थर्ड पेज पे नहीं जाते हो। आप गूगल के फर्स्ट पेज पे ही सारी इनफार्मेशन गैदर करने की कोसिस करते हो ये बहोत जरुरी है की जो भी आपकी वेबसाइट या आपके क्लाइंट की वेबसाइट है तो वो गूगल के फर्स्ट पेज पे रैंक करे। मतलब गूगल पे किसी पर्टिकुलर वेबसाइट ब्लॉग की रैंकिंग को इनक्रीस कराना उस प्रोसेस को बोला जाता है Search engine optimization.

Search engine optimization Keywords से लगाकर वेबसाइट का Architecture, UI बहोत सारी टेक्निकल चीज़े भी आयी। SEO जो भी आपकी वेबसाइट या ब्लॉग है अगर आपको गूगल पे रैंक कराना है तो आपको उसका SEO करना पड़ेगा जिसको हम बोलते है सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन। मतलब उस ब्लॉग को ऑप्टिमाइज़ करना पड़ेगा जिससे वो वेबसाइट वो ब्लॉग गूगल पे रैंक कर पाए। अब रैंकिंग से होता क्या है। 

Revenue


For Example आपका कुछ प्रोडक्ट्स या सर्विसेज है अगर वो सर्विस या प्रोडक्ट गूगल के second, third  पेज पे आरहा है तो कोई पर्टिकुलर Person वहा जायेगा नहीं अगर वहा जायेगा नहीं तो आपकी सेल नहीं होगी। अगर सेल नहीं होगी तो रेवेनुए generate नहीं होगा अगर मन लो आपका प्रोडक्ट और सर्विस की वेबसाइट है वो गूगल के फर्स्ट पेज पे आती है तब आपके पास ट्रैफिक ज्यादा आएगा। आपके पास ज्यादा ट्रैफिक आएगा तो आपकी probability और सेल ज्यादा हो जाएगी। अगर आपकी सेल ज्यादा होगी तब रेवेनुए भी ज्यादा होगा। SEO से आपकी सेल्स और आपकी ऑनलाइन प्रजेंस सारी जिजे एफेक्ट करती है।

  • SEM(Search engine marketing)

Search engine marketing मतलब जो गूगल है वो एक सर्च इंजन है अगर आपको उसी पे आपकी  वेबसाइट की मार्केटिंग करनी है। वो मार्केटिंग पेड मार्केटिंग होगी तो उसको बोलेंगे SEM आपने इससे पहले देखा होगा जब भी अपने गूगल पे  सर्च करते हो manually 3 से 4 जो रिजल्ट  होते  है स्टार्टिंग के उनके  आगे  बॉक्स में Ad लिखा होता है वो Ad का  मतलब है Ads. मतलब यहाँ पे गूगल को पैसे दिए गए उन 4 से 5 वेबसाइट को टॉप पे रैंक कराने के लिए। मतलब SEO एक paid services है आपको यहाँ पे पैसे देने है गूगल को तो वो आपके वेबसाइट या आपके ब्लॉग को उस particular keywords पे  टॉप पे लेकर आएगा। SEM एक पेड मार्केटिंग है जो हम सर्च इंजन पर रन कर सकते है जिसके लिए आपको उस पर्टिकुलर सर्च इंजन को पैसे देने पड़ते है आपकी वेबसाइट और आपकी  ब्लॉग को रैंक कराने के लिए।

  • SMO(Social media optimization)

SMO का मतलब है Social media optimization जिससे आपने गूगल के लिए आपके वेबसाइट को ऑप्टिमाइज़ किया वैसे आपके सोशल मीडिया को ऑप्टिमाइज़ करना पड़ता है जिसके थ्रू आपकी online presence आपकी ब्रांड और आपकी ब्रांड की अवेर्नेस और जो भी आपके ऑडियंस है वो आपके प्रोडक्टस के बारे में अवेर हो जाये और जब हम सोशल मीडिया थ्रू वेबसाइट पे ट्रैफिक लाते है। उस पूरी प्रोसेस को बोलते है Social media optimization। अगर सिंपल सी लैंग्वेज में समझे की SMO एक प्रोसेस है आपकी ब्रांड की अवेर्नेस आपकी प्रोडक्ट की अवेर्नेस नई प्रोडक्ट के बारे में मार्केटिंग करना सोशल मीडिया केथ्रू। जैसे की Facebook, Instagram ,LinkedIn, snap chat, ये सरे सोसाइल मीडिया प्लेटफॉर्म है। इन सोशल मीडिया प्लेटफार्म के थ्रू जब ट्रैफिक आपके वेबसाइट पे जाता है इन पुरे प्रोसेस को SMO Social media optimization.

SOCIAL-MEDIA-OPTIMIZATION

   

  • PPC(Pay Per Click) 

PPC मतलब pay per click जितने आपके वेबसाइट के ऊपर या आपके particular links के उप्पर क्लिक आएंगे उतने ही आपको गूगल को pay करना होगा इस लिए इसको बोला जाता है pay per click.

  • SMM(Social Media Marketing) 

SMM Social Media Marketing मतबल हम किसी भी प्रोडक्ट या सर्विसेज की SOCIAL MEDIA के थ्रू मार्केटिंग करते है और SOCIAL MEDIA के थ्रू ही सेल करवा देते है उस पूरी प्रोसेस को बोलते है सोशल मीडिया मार्केटिंग। अपने देखा होगा बहुत सारी वेबसाइट बहुत सारी e-commerce स्टोर SOCIAL MEDIA का यूज़ करते है अपने प्रोडक्ट और सर्विसेज को सेल करने के लिए और अपने प्रोडक्ट और सर्विस को मार्किट  करने के लिए इस प्रोसेस को  बोला जाता है SMM जिसको हम बोलते है Social Media Marketing मतबल सोशल मीडिया की मदद से प्रोडक्ट इन सर्विसेज को मार्किट करना या बोल सकते है advertise करना।

  • Content Marketing 

Content Marketing SEO, SMO हर चीज़ का Backbone है ऐसा क्यों जब भी आप SEO करते है तब आपको पहले कंटेंट को रिफाईने करना होता है। आपको कीवर्ड्स पुट करने होते है जो सबसे मैन चीज़ जो होती है कंटेंट होती है मतबल कंटेंट के थ्रू जब मार्केटिंग हो रही होती तब उसे बोला जाता है Content Marketing. For Example किसी प्रोडक्ट या सर्विसेज के बारे में बता रहे हो और अपने उस वेबसाइट के बारे में पूरा कंटेंट लिखा है क्या उसका specifications क्या फीचर है किस तरीके से यूज़ किया जायेगा क्या बेनिफिट है सारी चीजें Explain की है उन वेबसाइट के उप्पर जो आपने Explain करि है वो कंटेंट है। और जिस तरीके से उसकी मार्केटिंग होगी तो उसको बोलते है Content Marketing.

  • Email Marketing 

Email Marketing का मतबल है  Email का यूज़ करना आपने ब्रांड की मार्केटिंग करने के लिए और अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग करने के लिए और या तो अवेयरनेस फ़ैलाने के लिए। ईमेल से एक रिलेशन बिल्ड होता है, ईमेल से एक परशनल कनेक्शन बिल्ड होता है सो आज भी ईमेल मार्केटिंग बहोत से यूज़ में अति है कैसे करना है क्या करना है कौन से टूल यूज़ करना है कौन से Subscription यूज़  करने है कैसे automation होता है कैसे आटोमेटिक मेल चल जाते है Email automation के अंदर और Email marketing के अंदर।

  • Influencer Marketing and Affiliate Marketing

Influencer Marketing एंड Affiliate marketing Influencer मार्केटिंग का मतलब है अगर आपके पास कुछ followers है अगर आपके YouTube पे कुछ Subscriber है तो आप easily Influencer Marketing कर सकते हो और Affiliate Marketing भी कर सकते हो। जैसे की अपने बहोत बार देखा होगा जो सेलेब्रिटी होते है कुछ ना कुछ पोस्ट करते है किसी ना किसी प्रोडक्ट का यूज़ होता है या T-Shirt हो गयी या Reebok के shoes हो गए या Watch हो गयी कुछ ना कुछ होता ही है मतलब इन डायरेक्ट ली वो मार्केटिंग कर रहे है सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के थ्रू इस तरीके के मार्केटिंग को बोला जाता है Influencer Marketing। और Affiliate Marketing का मतबल है किसी भी प्रोडक्ट या सर्विसेज को आप आपके थ्रू सेल करते हो किसी पर्टिकुलर कंपनी के तो आपको कुछ पर्टिकुलर कुछ कमीशन मिलता है|

For Example Amazon के थ्रू Affiliate Marketing करते हो और उनके एफिलिएट प्रोग्राम में एनरोल  हो  तब आपको एक पर्टिकुलर  लिंक मिलती है अगर किसी पर्टिकुलर person  ने  वो प्रोडक्ट  आपकी पर्टिकुलर लिंक से परचेस किया है तो  आपको कुछ न कुछ कमिशन मिलता है इसको बोला जाता है Affiliate Marketing

Post a Comment

0 Comments