Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

Responsive Advertisement

बैकलिंक क्या है? What is Backlink?

बैकलिंक क्या है? What is Backlink?

Backlink का मतलब होता है अगर google को बहोत सारे platform और बहोत सारे high quality website है ये कहे की ये पर्टिकुलर वेबसाइट high authority है इसमें कंटेंट बहोत अच्छा है। और इस वेबसाइट का link हम अपनी वेबसाइट के ऊपर डाल रहे है ये हमारी जिम्मेदारी है की ये वेबसाइट बहोत अच्छी है और ये बहोत अच्छा कंटेंट प्रोवाइड करती है उसको हम backlink बोलते है।

For example आपका link बहोत सारी वेबसाइट के ऊपर पड़ा हुआ है और वो वेबसाइट सारी की सारी high authority है उनका domain authority भी बहोत high है और उनका page authority भी बहोत high है और उनपे ट्रैफिक बहोत अच्छा है। google क्या करता है उनको trusted वेबसाइट के categories में रखता है। और उनके ऊपर आपकी वेबसाइट का link पड़ा हुआ है जैसे ही गूगल वेबसाइट में crawl करेगा अपने crawlers अपने spiders के थ्रू तो जैसे ही आपके link को देखेगा तब वो कहेगा इस high authority पे इस link का क्या काम।

what-is-backlink


जैसे की digital marketing से रिलेटेड आपकी website है उसमे आपका link दिया होगा। फिर google direct आपके web page पे ayega फिर ऐसे ही google ने किसी और वेबसाइट को देखा फिर वहा से भी उसके web page पे आएगा उससे उसका रिजल्ट क्या होगा backlink क्रिएट करने से रिजल्ट क्या मिलेगा। Backink क्रिएट करने से रिजल्ट यह मिलेगा की हमारी वेबसाइट की रैंकिंग सर्च रिजल्ट पेज के अंदर सुधर जाएगी। और हमारी वेबसाइट की रैंकिंग काफी हद तक उप्पर आ जाएगी और आपकी वेबसाइट visible होने लगेगी Search Result Page के अंदर।

आपने देखा होगा जब भी हम गूगल पे कुछ भी सर्च करते है तब maximum लोग first पेज से ही आउटपुट निकाल लेते है और सेकंड पेज पे कोई नहीं जाता अगर आपकी वेबसाइट 2nd पेज पे रैंक कर रही है तो कोई फायदा नहीं आपकी वेबसाइट को फर्स्ट पेज पे सुरु के 3, 4 या 5 रिजल्टस के अंदर रैंक करना होगा और वो करने के लिए आपको domain की authority बढ़ानी होगी और domain की authority बढ़ाने के लिए backlink करना पड़ता है।

Difference between do-follow and no-follow link

No-follow:- No-follow link एक ऐसी link होती है जोकि आप अपनी वेबसाइट में add करते है लेकिन उसका बेनिफिट जिस साइट को आपने link किया है उसको बिल्कुल भी नहीं मिलता है। और no-follow link आपको ऐसी जगह जरूर यूज़ करनी चाहिए जैसे की आप कभी Spami content या Spami site अपनी ब्लॉग में add कर रहे है वहा पे no-follow attribute जरूर यूज़ करना चाहिए। no-follow कैसे add करते है। 

Example:-<a href=http://www.seowrk.com/ rel=”nofollow”>Digital Marketing</a>

जब भी हम कोई भी link create करते है तब हमे relation(rel) =no-follow tag यूज़ करना पड़ता है। इसी रिलेशन टैग से google या किसी भी सर्च इंजन को पता चलता है की इस link को फॉलो करना है या नहीं इसी को बोलते है no-follow link.

Do-follow:-Do-follow हमारी वेबसाइट के लिए एक link juice प्रोवाइड करती है जैसे की link juice का मतलब होता है की हमारी website की वैल्यू और भी ज्यादा बढ़ा देती है। और इसके साथ साथ वेबसाइट की रैंकिंग और domain authority भी improve कर देती है। और गूगल और बाकि सारे search engine में आपकी साइट रैंक करती है।  

<a href="https://www.seowrk.com">digital marketing </a>

Post a Comment

0 Comments